Importance of teacher.Essay on teacher

परिचय

Aaj hum aapse kabhi Bhavuk vishay me baat karna chahenge, ye wo shakshiyat hai jo kisi tarif ke mohtaj nahi hai, bus iss baat se start karenge ki , Happy Teachers Day 🙂

Ek Chota sa Bachcha jab scholl jana start karta hai aur waha ek teacher se milta hai aur Teacher use Duniya se ladne ki aur sabhi guno ko sikhne ke kabil banata hai,

abodh balak jo ek bhul ke san hai, uski पंखुड़ियां फैल जाती हैं और खुशबू हर किसी को मंत्रमुग्ध कर देती है।

एक फूल एक छात्र से अलग नहीं है जो बढ़ता है, परिपक्व होता है और अंत में एक शिक्षक के संपर्क में आने के बाद एक नए इंसान में विकसित होता है।

ब्रम्हांड

Teacher वे लोग होते हैं जिन पर हम अपना ज्ञान देते हैं और इसलिए बहुत हद तक हमारी आजीविका। शिक्षक पाठ्यक्रम पूरा करने के विचार से नहीं सिखाते हैं; वे ज्ञान प्रदान करने के लक्ष्य के साथ सिखाते हैं, हमें नई चीजें सीखने,

सिद्धांतों को तैयार करने और नया करने के लिए प्रेरित करते हैं। उसमें एक अच्छे शिक्षक और एक महान के बीच का अंतर है।

शिक्षक दिवस पर, हम अपने दिनों के ज्ञान, दर्द, enjoyment, घबराहट और कुछ हद तक जलन को याद करने में मदद नहीं कर सकते।

उपलब्धियो पे नज़र

Humne Teacher ki baate uss samay nahi suni lekin aaj ye samajh me aane laga hai ki वे शब्द कितने मूल्यवान थे? हम उन कक्षा सत्रों को कैसे भूल सकते हैं जब हम पक्षियों को खेलते हुए देखते थे,

Lekin hamare teacher hum pustak me dhyan lagane ko bolte the. Humne hamari kitabo me kabi dhyan hi nahi diya but hamare teacher ne hamara dhyan rakha, to hum aaj wo saab kaise bhool sakte hain?

Lekin hamare teacher hum pustak me dhyan lagane ko bolte the,

lekin Humne hamari kitabo me kabi dhyan hi nahi diya but hamare teacher ne hamara dhyan rakha ,

wo bhi kya din the

जब hum log principal ke office me bulaye गए थे और आप पैरेंट-टीचर मीटिंग के बारे में डर गए थे?

आपके सभी शिक्षक ने आपके माता-पिता से कहा कि आप उज्ज्वल हैं और उसे आप पर विश्वास है। ये वे छोटे-छोटे क्षण हैं जो आपके शिक्षक के लिए आपके सम्मान में संचित हैं।

सम्मान से आगे

क्या आपने कभी सोचा है कि शिक्षक शब्द पुरुष या महिला या कोई लिंग क्यों है?

Jivan की जटिलताओं को एक तरफ रखते हुए, यह इस तथ्य के कारण है कि लिंग, समर्पण, दृढ़ संकल्प और भक्ति के बावजूद एक शिक्षक निर्धारित करता है।

यह हो सकता है कि आप किसी कारण से शिक्षक के खिलाफ कुछ शिकायत कर सकते हैं;

जाओ और उनसे इसके बारे में पूछें और आपको पता लगने की संभावना है कि आपको बहुत ही शौक और प्यार से याद किया जाता है।

अनेक रूप

एक शिक्षक के लिए प्यार तब शुरू होता है जब आप उसे पसंद करते हैं जो वह आपको सिखाता है;यह उस समय फलित होता है जब आपको पता चलता है कि उन शिक्षाओं ने आपको आज का व्यक्ति बना दिया है।

Wo Hamesha Hamare Vifaltao ko ignore kaar ke , sirf safaltao ko Nikharne ki koshish karta hai. Dusri taraf agar aap ghar me dekhe to Pahli Shiksha to ghar per hi shuru ho jati hai Pita jo Hume Sada Guru Baan ke raste dikhata rahta hai.

Maa jo Vice Principal to hoti hai ghar ki lekin hamare sangharsh ke khilaf sabse pahle awaj wo hi uthati hai, puri Duniya ke liye hum galat sabit ho sakte hai lekin uske liye hum koyle ki khan me hire ke saman hai.

Mere Liye Mata Pita bhi Kisi bhi Guru se kaam nahi hai, Jinki wajah se aaj hum yaha baithe ye post padh pane me saksham huye hai. Jinko Hum sabhi readers ki tafa se lakh lakh naman karte hain.

आखिरी बॉल पर 6

Ek aur Insaan Hamare jeevan me bahut mahatwapurna hota hai jisse samaj me hum dost ke name pe jante hain, lekin hum saabne mushkil ke time pe sirf dost ko phone kiya hai ki bhai kaha hai tu, help chahiye,

Aur wahi dost Teacher/Sathi/Marg Darshak baan ke Jivan ke alag alag padaw per hume rasta dikhata rahta hai. aur aise sabhi dost saman guruwo ko dil se Pranam.

I hope you like the article.Let us know your thoughts and suggestions in comment section below.Subscribe to siriusq.com to get notications and updates directly to your inbox.

Read also:Why medical bima is important

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy link